Stories of Vikram Betaal विक्रम बेताल की कहानियाँ

Stories of Vikram Betaal विक्रम बेताल की कहानियाँ

*बेताल पचीसी * राजा विक्रम और एक बेताल की कहानियों की शृंखला है बेताल पच्चीसी। पेड़ पर लटके हुए एक बेताल को एक योगी तक पहुँचाना था राजा विक्रम को। राजा उस बेताल को अपनी पीठ पर लादकर ले जाने लगा। बेताल ने कहा राजा मैं तुझे एक कहानी सुनाऊंगा, पर शर्त ये है कि तुझे चुप रहना है। अगर तू बोला तो मैं वापिस पेड़ पर चला जाऊँगा। बेताल ने कहानी सुनकर विक्रम से एक सवाल किया, राजा ने जवाब दे दिया तो बेताल वापिस पेड़ पर जा लटका। राजा फिर उसको लेकर चला फिर एक कहानी, फिर एक सवाल, हर सवाल का राजा दे देता जवाब...बस ये सिलसिला यूँ ही चलता रहा पच्चीस बार।फिर क्या हुआ.....सुनिए पॉडकास्ट की ये पूरी सीरीज़. बेताल पच्चीसी इसे इसलिये कहते हैं कि बेताल ने एक ही रात में 24 कहानियाँ सुनाई तथा अंतिम कहानी उस धूर्त योगी की हैं जिसके कारण पूरे 25 कहानियों का संग्रह बैताल पचीसी(बेताल पच्चीसी) कहलाता हैं। इसका संकलन आदरणीय सोमदेव जी ने किया।
बेताल पच्चीसी : पच्चीसवीं कहानी : बेताल पच्चीसी : Betal Pachcheesi

बेताल पच्चीसी : पच्चीसवीं कहानी : बेताल पच्चीसी : Betal Pachcheesi

बेताल पच्चीसी - पच्चीसवीं कहानी!!योगी राजा को और मुर्दे को देखकर बहुत प्रसन्न हुआ। बोला, "हे राजन्! तुमने यह कठिन काम करके मेरे साथ बड़ा उपकार किया ...

बेताल पच्चीसी : चौबीसवीं कहानी : माँ बेटी के बच्चों मे रिश्ता क्या : Maan beti ke bachchon me rishta kya

बेताल पच्चीसी : चौबीसवीं कहानी : माँ बेटी के बच्चों मे रिश्ता क्या : Maan beti ke bachchon me rishta kya

माँ-बेटी के बच्चों में क्या रिश्ता हुआ? बेताल पच्चीसी - चौबीसवीं कहानी!किसी नगर में मांडलिक नाम का राजा राज करता था। उसकी पत्नी का नाम चडवती था। वह ...

बेताल पच्चीसी : तेईसवीं कहानी : योगी पहले रोया फिर हंसा क्यों : Yogi phle roya fir hansa kyon

बेताल पच्चीसी : तेईसवीं कहानी : योगी पहले रोया फिर हंसा क्यों : Yogi phle roya fir hansa kyon

योगी पहले क्यों रोया, फिर क्यों हँसा? बेताल पच्चीसी - तेईसवीं कहानी!कलिंग देश में शोभावती नाम का एक नगर है। उसमें राजा प्रद्युम्न राज करता था। उसी न...

बेताल पच्चीसी : बाइसवीं कहानी : शेर बनाने का अपराध किसने किया : Sher banane ka apradh kisne kiya

बेताल पच्चीसी : बाइसवीं कहानी : शेर बनाने का अपराध किसने किया : Sher banane ka apradh kisne kiya

शेर बनाने का अपराध किसने किया? बेताल पच्चीसी - बाईसवीं कहानी!!कुसुमपुर नगर में एक राजा राज्य करता था। उसके नगर में एक ब्राह्मण था, जिसके चार बेटे थे...

बेताल पच्चीसी : इक्कीसवीं कहानी : सबसे ज़्यादा प्रेम मे अंधा कौन : Sabse zyada prem me andha kaun tha

बेताल पच्चीसी : इक्कीसवीं कहानी : सबसे ज़्यादा प्रेम मे अंधा कौन : Sabse zyada prem me andha kaun tha

सबसे ज्यादा प्रेम में अंधा कौन था? - बेताल पच्चीसी - इक्कीसवीं कहानी!!विशाला नाम की नगरी में पदमनाभ नाम का राजा राज करता था। उसी नगर में अर्थदत्त ना...

बेताल पच्चीसी : बीसवीं कहानी : बालक क्यों हंसा : Balak kyon hansa

बेताल पच्चीसी : बीसवीं कहानी : बालक क्यों हंसा : Balak kyon hansa

बालक क्यों हँसा? बेताल पच्चीसी - बीसवीं कहानी!चित्रकूट नगर में एक राजा रहता था। एक दिन वह शिकार खेलने जंगल में गया। घूमते-घूमते वह रास्ता भूल गया और...

बेताल पच्चीसी : उन्नीसवीं कहानी : पिंड का अधिकारी कौन : Pind ka adhikari kaun

बेताल पच्चीसी : उन्नीसवीं कहानी : पिंड का अधिकारी कौन : Pind ka adhikari kaun

पिण्ड दान का अधिकारी कौन - बेताल पच्चीसी - उन्नीसवीं कहानी!! वक्रोलक नामक नगर में सूर्यप्रभ नाम का राजा राज करता था। उसके कोई सन्तान न थी। उसी समय म...

बेताल पच्चीसी : अट्ठारहवीं कहानी : विद्या क्यों नष्ट हो गयी : Vidya kyon nasht ho gayi

बेताल पच्चीसी : अट्ठारहवीं कहानी : विद्या क्यों नष्ट हो गयी : Vidya kyon nasht ho gayi

विद्या क्यों नष्ट हो गयी? बेताल पच्चीसी -अठारहवीं कहानी उज्जैन नगरी में महासेन नाम का राजा राज करता था। उसके राज्य में वासुदेव शर्मा नाम का एक ब्राह...

बेताल पच्चीसी : सत्रहवीं कहानी : अधिक साहसी कौन : Adhik Sahsi kaun

बेताल पच्चीसी : सत्रहवीं कहानी : अधिक साहसी कौन : Adhik Sahsi kaun

अधिक साहसी कौन : बेताल पच्चीसी - सत्रहवीं कहानी!! चन्द्रशेखर नगर में रत्नदत्त नाम का एक सेठ रहता था। उसके एक लड़की थी। उसका नाम था उन्मादिनी। जब वह ...

बेताल पच्चीसी : सोलहवीं कहानी : सबसे बड़ा काम किसने किया : Sabse bada kaam kisne kiya

बेताल पच्चीसी : सोलहवीं कहानी : सबसे बड़ा काम किसने किया : Sabse bada kaam kisne kiya

सबसे बड़ा काम किसने किया? - बेताल पच्चीसी सोलहवीं कहानी||हिमाचल पर्वत पर गंधर्वों का एक नगर था, जिसमें जीमूतकेतु नामक राजा राज करता था। उसके एक लड़क...